Browsing Category

Hindi Befwa Shayari

इश्क़ अब इश्क़ नही रहा-गोरखधंधा हो गया – Hindi Shayari

नाज़ था जिन अपनों पे उनसे ही शर्मिंदा हो गया है , महंगा था इसका मोल कभी; अब जी एस टी सा मंदा हो गया है, इश्क़ अब इश्क़ नही रहा गोरखधंधा हो गया है।

Download Image

 Please wait while your url is generating... 3