तड़प रहीं हैं मेरी साँसें – Hindi Shayari

164

तड़प रहीं हैं मेरी साँसें
तुझे महसूस करने को,
खुशबू की तरह बिखर जाओ
तो कुछ बात बने।

Download Image

 Please wait while your url is generating... 3