नज़रें मिले तो प्यार हो जाता है

0 142

नज़रें मिले तो प्यार हो जाता है ,
पलकें उठे तो इज़हार हो जाता है ,
ना जाने क्या कशिश है चाहत में ,
के कोई अनजान भी हमारी ज़िन्दगी का हक़दार हो जाता है।