तू हज़ार बार भी रूठे

261

तू हज़ार बार भी रूठे
तो मना लूँगा तुझे
मगर देख मोहब्बत में
शामिल कोई दूसरा ना हो ||

Download Image

 Please wait while your url is generating... 3