ज़ुबान खामोश आँखों में नमी होगी

205

ज़ुबान खामोश आँखों में नमी होगी,
ये बस एक दास्तां-ए ज़िंदगी होगी !!
भरने को तो हर ज़ख्म भर जाएगा,
कैसे भरेगी वो जगह जहाँ तेरी कमी होगी

Download Image

 Please wait while your url is generating... 3